1 लाख $ सालाना की नौकरी छोड़, इंजीनियर ने खेती से कमाने शुरू किए लाखों


कर्नाटक। कॉर्पोरेट में वर्क प्रेशर, क्लीग्स के साथ गलाकाट प्रतिस्पर्धा और नौकरी जाने का खौफ अच्छे-खासे टेलेंट को दफन कर देता है। लेकिन युवा पीढ़ी में अब बदलाव देखने को मिल रहे हैं। युवा अब लाखों डॉलर की नौकरी अपने सुख और शांति के लिए छोड़ रहे हैं। ऐसा ही एक जीवंत उदाहरण कर्नाटक में सामने आया है। स्थानीय कलाबुर्गी के तहत आने वाले गांव शिलागी के सॉफ्टवेयर इंजीनियर सतीश कुमार इन दिनों चर्चा में बने हुए हैं।

सतीश सॉफ्टवेयर इंजीनियर हैं और गांव लौटने से पहले लॉस एंजेल्स में एक लाख डॉलर सालाना के पैकेज की नौकरी कर रहे थे। उन्होंने इंजीनियरिंग के बाद अमेरिका और दुबई में अलग-अलग कंपनियों में काम किया। इन नौकरियों में सतीश को पैसा तो मिल रहा था लेकिन नौकरी में होने वाली बोरियत से परेशान हो गए थे। सतीश कहते हैं, मेरी जिंदगी तो खत्म सी हो गई थी। बेहद मोनोटोनस जॉब और पकाऊ शिड्यूल्स से मैं पक गया था। मैंने अपने गांव लौटने का फैसला किया और खेती-बाड़ी को संभाला। दो साल पहले मैंने गांव लौटकर खेती शुरू की और अब मैं बेहद खुश हंू। पिछले ही महीने मैंने अपनी दो एकड़ की फसल बेची है, जिससे मुझे ढाई लाख की कमाई भी हुई है।
Share on Google Plus

About Officers Times

0 comments:

Post a comment