जयपुर की शान, होगी नीलाम - प्रॉपर्टी बाज़ार में मचा हड़कंप


जयपुर की शान और शहर का सबसे बड़ा मॉल World Trade Park बैंक का डिफाल्टर होने की वजह से नीलामी की जद में आ गया है। कोरोना के बहाने मंदी जाहिर करने वाले कारोबारियों के लिस्ट में शामिल हुए WTP के एक बड़े हिस्से को नीलाम करने के लिए यूको बैंक ने सार्वजनिक सूचना भी अखबारों में एक विज्ञापन के जरिये प्रकाशित करवा दी है। किसी भी कारोबारी की साख पर बट्टा माने जाने वाली नीलामी से बचने के तमाम प्रयासों के बावजूद World Trade Park के मालिक अनूप बरतरिया के पास अब कोई विकल्प नहीं बचा है।

यूको बैंक से मिली जानकारी के मुताबिक WTP की दो मंजिल का करीब 55 हजार वर्गफीट एरिया कर्ज नहीं चुकाने की वजह से नीलामी में आ गया है। इधर जैसे ही World Trade Park के बड़े हिस्से की नीलामी की खबरें बाहर आई जयपुर के प्रॉपर्टी बाज़ार में हड़कंप मच गया। गौरतलब है कि WTP की सबसे ज्यादा शेयर होल्डिंग रखने वाले अनूप बरतरिया का प्रॉपर्टी कारोबार में भी बड़ा दखल है। सूत्रों के मुताबिक अनूप का बड़ा पैसा प्रॉपर्टी बाज़ार में ब्याज पर भी चलता है। ऐसे में अनूप की नीलामी से गिरती साख न केवल शहर के प्रॉपर्टी बाज़ार पर असर डालेगी, बल्कि अनूप के ब्याज के धंदे के लिए भी घातक साबित होगी। इधर जानकार बताते हैं कि World Trade Park के 90 फीसदी शेयर्स की होल्डिंग अनूप बरतरिया के पास ही है। मालिकाना हक की बात करें तो WTP की 2 मंजिलों पर आर.एफ.ट्रेडर्स के पास था, जिस पर यूको बैंक से 17 करोड़ का लोन लिया गया था। जो ब्याज समेत अब 2 करोड़ हो चुका है। बैंक इस पैसे को चुकाने के लिए लगातार WTP प्रबंधन से संपर्क करता रहा है, लेकिन जब कोई जवाब नहीं मिला तो यूको बैंक ने नीलामी की प्रक्रिया को आगे बढ़ा दिया।

गौरतलब है कि कोरोना कहर के बाद जयपुर ही नहीं प्रॉपर्टी बाजार में गिरावट देशभर में देखी गई है। महामारी के चलते प्रॉपर्टी कारोबारियों की कमर टूट गई है। ऐसे में इस बाजार से जुड़े लोगों का बड़े पैमाने पर डिफाल्टर होना, संकट के तौर पर देखा जा रहा है। 
Share on Google Plus

About Officers Times

0 comments:

Post a comment