मदुरई कलक्टर पहुंचे आम आदमी का दर्द समझने

तमिलनाडु। ब्यूरोक्रेसी को लेकर समाज का एक बड़ा वर्ग महज इसलिफ खफा रहता है, कि ब्यूरोक्रेट्स अपने एसी कार्यालयों से बाहर आम आदमी का दर्द जानने नहीं आते। लेकिन इस मिथक को वक्त-बेवक्त जरूरत पडऩे पर ब्यूरोक्रेट्स तोड़ते ही रहते हैं। आज तमिलनाडु स्थित मदुरई के जिला कलक्टर अंशुल मिश्रा ने भी ऐसा ही किया।
मदुरई स्थित अंदलपुरम के अग्नि रेजिडेंशियल कॉम्पलैक्स में आज अचानक ही अंशुल पहुंच गए। यहां से लगातार आम नागरिकों की शिकायतें अंशुल को मिल रही थी। शिकायतकर्ताओं का कहना था कि यहां आम आदमी की सुविधाओं का ध्यान रखने की बजाय सुविधा क्षेत्रों कर कब्जा किया जा रहा है। यहां अंशुल ने कॉलोनी का नक्शा मंगवाया और स्थानीय प्राधिकरण को पूरे मामले की जांच करने की बात कही। शिकायतकर्ताओं के अनुसार यहां 15 एकड़ में फैली इस योजना में करीब 650 घर बने हुए हैं, जिनमें करीब 3000 लोग रहते हैं। इन लोगों के लिए यहां 35 हजार स्क्वायर फीट का पार्क है, जिसे बेच दिया गया है। कलक्टर ने यहां पत्रकारों को बताया कि अगर नक्शे से छेड़छाड़ का मामला सामने आता है, तो तुरंत दोषियों पर कार्यवाही की जाएगी। साथ ही मिश्रा ने स्थानीय निवासियों को पूरा भरोसा दिलाया कि जो भी कार्यवाही होगी कानूनन होगी, इसलिए उन्हें बिलकुल भी घबराने की आवश्यकता नहीं है। 
Share on Google Plus

About Officers Times

0 comments:

Post a comment