झुंझुनू कलेक्टर जोगाराम राज्य स्तरीय ई-गवर्नेंस अवार्ड से सम्मानित


झुंझुनू को ई-गवर्नेस जिला पुरस्कार में मिले 10 लाख रूपये

राज्य सरकार के सूचना प्रोद्योगिक एवं संचार विभाग की ओर से जिले में ई-गवर्नेंस कार्यक्रम के तहत प्राप्त आवेदनों का समय पर निस्तारण करने एवं बेहतरीन ढंग से कार्यों का निस्पादन करने के फलस्वरूप जिला कलेक्टर जोगाराम को ‘‘ई-गवर्नेंस राजस्थान अवार्ड: 2011-12‘‘
 से नवाजा गया है। पुरस्कार स्वरूप जिले को 10 लाख रूपये की राशि भी प्रदान की गई है।

ई -गवर्नेंस कार्यक्रम के तहत नागरिक सेवा केंद्र, ई-मित्र, सुगम शिकायत निवारण पोर्टल, सुगम सिंगल विण्डो, सुगम डिजीटल हस्ताक्षर प्रणाली एवं रास्वान योजनाओं के क्रियान्वयन में जिले में वर्ष 11-12 में प्रभावी नियत्रण एवं मॉनिटरिंग करके समयबद्वता से कार्य करने के फलस्वरूप राज्य सरकार द्वारा जिले को प्रथम रैंक प्रदान की गई है। एक अप्रेल 2011 से 31 मार्च 2012 तक सीएससी योजना के तहत जिले में 60 सीएससी क्रियाशील रही हैं। जिले के सभी नगर पालिका क्षेत्र में ई-मित्र कियोस्क क्रियाशील हैं। सीएसी एवं ई-मित्र कियोस्कधारकों द्वारा उक्त अवधि में भारत संचार निगम लि. के 31476, अजमेर विद्युत वितरण निगम के 569830, जलदाय विभाग के 186039, राजस्थान लोक सेवा आयोग के 98520 आवेदन पत्र, पंचायतीराज के 33496 आवेदन पत्र आदि के कुल 1005499 ट्राजेंक्शन कर कीर्तिमान स्थापित किया गया है। 
इसी पकार जिले में डिजीटल हस्ताक्षरयुक्त प्रणाली के तहत (जाति, मूल, आय एवं हैसियत आदि ) 87827 सभी तरह के प्रमाण पत्र जारी किए गए हैं। सुगम सिंगल विन्डो प्रणाली के तहत 226584 विभिन्न प्रकार के प्रमाण पत्र जारी किए गए हैं। सुगम आरपीजी के तहत सुगम पोर्टल पर प्राप्त 3544 परिवादों में से 2337 का समयबद्व रूप से निस्तारण कर आमजन को राहत पंहुचाई गई है। रास्वान योजनान्तर्गत जिले में जिला मुख्यालय को छोडक़र सभी पंचायत समिति मुख्यालय परिसर में निर्मित राजीव गांधी सेवा गांधी सेवा केन्द्र तथा जिला कलेक्ट्रेट परिसर में निर्मित पोप साईट की स्थापना डीओआईटी द्वारा जारी दिशा-निर्देशों की पालना में करवाई जाकर राज्य में अग्रणी स्थान प्राप्त किया है।
- Ramesh Sarraf (FB)
Share on Google Plus

About Officers Times

0 comments:

Post a comment