मुस्कान जरूरी है!


अंदाज है और एहसास भी। प्रयास है और साहस भी। कोशिश कुछ कर गुजरने की और बेबाकी जरा हटके। नीरज के. पवन पाली जिला कलक्टर हैं। प्रशासनिक मसलों पर समाधान के मामले में आगे रहने के चलते आज पूरा पाली उनका दीवाना है। सोशल नेटवर्क हो या ठेठ देहात, नीरज के जुड़ाव में कहीं भी कमी नजर नहीं आती।

आम आदमी से जुड़कर उसकी धड़कन बनने की कामयाब कोशिश का अध्ययन करना हो, तो पाली जिला मुख्यालय और कलक्टर दोनों केस स्टडी का हिस्सा हो सकते हैं। ग्रासरूट स्तर पर जाएं, तो पाली में एक मूमेंटम है। हलचल है। सक्रियता है। ...और इन सबके पीछे हैं युवा जिला कलक्टर नीरज के. पवन। आम आदमी से सीधा जुड़ाव, समाधान के मामले में आगे रहने की आदत, योजनाओं को अमलीजामा पहनाने और उनके क्रियान्वयन में बेहतर प्रबंधन के साथ नीरज जिले को बेहतर बनाने में जुटे हुए हैं।
बढ़ते रहना जरूरी
कभी न थकने के मिजाज में हमेशा जबरदस्त सक्रिय रहने वाले नीरज कहते हैं, ‘काम में जुटे रहो, तो लगता है जैसे थकना मना है। क्योंकि रुका हुआ पानी खराब हो जाता है। वैसे ही थमा हुआ इंसान ज्यादा कुछ नहीं कर पाता। मेरा मानना है हमेशा मुस्कुराते रहो और लक्ष्यों को लेकर फोकस्ड रहो, तो मुकाम जरूर मिलता है।’
मोनिका मेरा मोटीवेशन
‘मोनिका महारानी कॉलेज से पढ़ी हैं और मैं महाराजा कॉलेज से। शुरू से ही उन्होंने मोटीवेट किया। कहते हैं न अच्छा साथ सफलता की मजबूत सीढ़ी बनता है। कामकाज और भागदौड़ भरी जिंदगी के बीच गहरे एहसास हमें आगे बढऩे को प्रोत्साहित करते हैं। आईएएस में चयन के बाद हमारी शादी हुई। अब दोनों जिंदगी के बेहतरीन सफर में साथ हैं।’
सोशल नेटवर्क की मजबूती
राजस्थान काडर के नीरज पहले आईएएस हैं, जिनके सोशल नेटवर्क फेसबुक पर सबसे ज्यादा चाहने वाले हैं। नीरज की हर क्रिया-प्रतिक्रिया पर उन्हें जमकर लाइक और कमेंट्स मिलते हैं। नीरज कहते हैं, ‘लोग भावनाओं की कद्र हमेशा करते हैं। अगर हम आम आदमी के लिए एक मिशन बनाकर जुट जाएं, तो दूरियां मिटाने में कहां वक्त लगता है। मैं जानता हंू, बतौर आईएएस एक ऑफिसर को अलग-अलग पदों पर अलग-अलग जगह सेवाएं देनी होती हैं। हर पद की अपनी गरीमा और जिम्मेदारियां होती हैं, लेकिन इन सबके साथ एक अपने क्षेत्र के लोगों के साथ एक मजबूत जुड़ाव बेहद जरूरी है। जुड़ाव होगा, तो हम हर योजना और काम का उम्दा क्रियान्वयन करने में कामयाब होंगे।’
सम्मान
राज्य स्तरीय परिवार कल्याण पुरस्कार (प्रथम स्थान) - 2012
राज्य स्तरीय परिवार कल्याण पुरस्कार (प्रथम स्थान) - 2011
सीएसआई-नीहिलेंट नेशनल ई-गवर्नेंस अवॉर्ड - 2010
राज्य स्तरीय परिवार कल्याण पुरस्कार (द्वितीय स्थान) - 2009
बेस्ट कलक्टर अवॉर्ड - 2009
प्राइम मिनिस्टर अवॉर्ड फॉर एक्सीलेंस इन नरेगा इम्प्लीमेंटेशन
Share on Google Plus

About Officers Times

2 comments: