आंध्र में मुख्य सचिव की कवायद तेज

चर्चित आईएएस अधिकारी और आंध्र प्रदेश के मुख्य सचिव पंकज द्विवेदी की 30 जून को होने जा रही सेवानिवृत्ति सरकार के लिए चिंता का विषय हो गई है। इस पद को लेकर तेज हुई कवायद में ट्विस्ट आ गया है। जानकारी के मुताबिक पंकज के छह माह या एक साल के एक्सटेंशन के चर्चे एक ओर जहां तेज हो गए हैं, वहीं एक्सटेंशन मिलने की स्थिति में फिर एक्सटेंशन पूरा होते ही यही समस्या सरकार के सामने आने वाली है।
विशेषज्ञों की मानें, तो अगर पंकज को एक्सटेंशन मिला, तो वह छह महीने या एक साल का होगा। ऐसी स्थिति में सरकार अब तो कवायद से बच जाएगी, लेकिन छह महीने बाद यही कवायद सरकार को फिर करनी होगी। इसी उधेड़बुन में सरकार ऐसे नाम तलाशने में जुट गई है, जो आने वाले कुछ साल इस पद को दे सके। क्योंकि वरिष्ठ के आधार पर इस पद पर सरकार अगर नियुक्ति देती है, तो 1977 और 1978 बैच के अधिकारी भी आने वाले कुछेक महीनों में सेवानिवृत्त हो जाएंगे। इसलिए माना जा रहा है कि सरकार किसी ऐसे नाम पर जोर दे सकती है, जिसकी सेवानिवृत्ति कम से कम 2014 में होने वाली हो। सीएस पद की इस रेस में फिलहाल प्रबल दावेदारों में 1976 बैच की आईएएस अधिकारी मिनी मैथ्यू और 1977 के वरिष्ठ आईएएस जे. सत्यानारायणा को माना जा रहा है। फिलहाल पूरे आंध्र काडर में अगले पांच दिनों तक चर्चा खासी गर्म रहने वाली है।
Share on Google Plus

About Officers Times

0 comments:

Post a comment